BCCI ने उम्र संबंधी धोखाधड़ी रोकने के लिए कड़ा कदम उठाया, खिलाड़ियों पर लगेगा 2 साल का बैन

बीसीसीआई ने घरेलू क्रिकेट में उम्र संबंधी गड़बड़ी को लेकर एक नई नीति अपनाने का फैसला किया है।नए नियम के तहत 2020/21 सीजन में बीसीसीआई के सभी आयु वर्ग के टूर्नामेंट में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों पर लागू होगी।

इस नई नीति के मुताबिक अगर कोई खिलाड़ी अपनी गलती मान लेता है या कबूल कर लेता है कि उसने उम्र संबंधी गड़बड़ी की है तो वह बच सकता है। परंतु अगर वह खिलाड़ी इस बात को छुपाता है और अगर इस बात का पता बीसीसीआई को चलता है तो वह उसे 2 साल के लिए बैन कर सकती है।

इस नई नीति के तहत जो खिलाड़ी अपने फर्जी दस्तावेज बीसीसीआई के पास जमा करके या कबूल कर लेता है कि उसने अपनी जन्मतिथि से छेड़छाड़ की है तो उसे बैन नहीं किया जाएगा। सही आयु बताने पर उसे टूर्नामेंट में खेलने की इजाजत है।

खिलाड़ियों को अपने हस्ताक्षर किए हुए पत्र या ईमेल दाखिल करना होगा जिसके साथ उसे 15 सितंबर तक संबंधित विभाग से सत्यापन करते हुए असली जन्मतिथि के दस्तावेज जमा करने होंगे। अन्यथा अगर वह पकड़ा जाता है तो उसे 2 साल के लिए बैन कर दिया जाएगा।

इस पर बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा, “हम सभी आयु वर्ग में समान मंच मुहैया कराने को लेकर प्रतिबद्ध है. बीसीसीआई उम्र संबंधी फजीर्वाड़े को रोकने के लिए काफी कदम उठा रही है और अब उसने आने वाले सीजन के लिए अधिक सख्त नियमों को लागू कर दिया है. जो लोग अपने आप अपनी गलती नहीं मानेंगे उन्हें कड़ी सजा दी जाएगी.”

Check Here For Complete Information About this related post

https://www.bcci.tv/articles/2020/news/147336/bcci-adopts-additional-measures-to-tackle-age-and-domicile-fraud-in-cricket

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *