गौतम गंभीर ने मेजर ध्यानचंद को भारत रत्न देने की मांग की — जाने क्या है पूरा मामला

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व क्रिकेटर और वर्तमान सांसद गौतम गंभीर ने हॉकी के जादूगर माने जाने मेजर ध्यान चंद्र को भारत रत्न से सम्मानित करने की मांग की है। मेजर ध्यानचंद हॉकी के बहुत ही बड़े खिलाड़ी हैं। उन्होंने मेजर ध्यानचंद की प्रशंसा करते हुए कहा है कि तीन जैसा बड़ा खिलाड़ी ना तो पैदा हुआ है और ना ही होगा।

उन्होंने अपने ट्विटर के माध्यम से मेजर ध्यानचंद को भारत रत्न से सम्मानित करने की बात कही है।

गौतम गंभीर ने कहा :- हिंदुस्तान के इतिहास में मेजर ध्यान चंद्र से बड़ा खिलाड़ी ना तो पैदा हुआ है और ना ही होगा। वह देश के लिए इतने गोल्ड मेडल लाए हैं और उस समय लाए जब खेल इतना पॉपुलर भी नहीं था। मैं चाहूंगा कि मेजर ध्यानचंद को जल्दी से जल्दी भारत रत्न मिले इससे पूरे देश को बहुत खुशी होगी।

मेजर ध्यानचंद को हॉकी का जादूगर कहा जाता है।

मेजर ध्यानचंद को हॉकी का जादूगर कहने के पीछे उनके मैदान पर किए गए प्रदर्शन हैं।  उन्होंने भारत के लिए साल 1928, 1932 और 1936 में तीन ओलंपिक स्वर्ण पदक जीते हैं। और इतना ही नहीं उन्होंने अपने पूरे करियर में 400 से अधिक गोल किए हैं।

मेजर ध्यानचंद के जन्मदिन यानी 29 अगस्त को भारत में राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है।भारत सरकार ने मेजर ध्यानचंद को 1956 में देश के तीसरे सबसे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म भूषण से सम्मानित किया है।

मेजर ध्यानचंद की याद में आज ही के दिन भारत में राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है।

Major Dhyan Chand Birth Anniversary: Know interesting facts about 'The  Wizard' - News Nation English

3 thoughts on “गौतम गंभीर ने मेजर ध्यानचंद को भारत रत्न देने की मांग की — जाने क्या है पूरा मामला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *