राहत इंदौरी साहब के मशहूर शायरी–अभी देखें

दोस्तों मशहूर राहत इंदौरी साहब का आज निधन हो गया है। वह कोरोना वायरस से संक्रमित थे। दोस्तों राहत इंदौरी साहब इतने बड़े शायर थे कि जब लोग राहत इंदौरी साहब को सुनते या पढ़ते थे तो उन्हें ऐसा शायर नजर आता था है जो अपना हर शेर बतौर आशिक कहता है।

Rahat Indori Found Corona Positive Share Information on Twitter ...

यह रहे उनके कुछ बेहतरीन शायरी जो आप लोगों को पसंद आएंगी।

रोज़ पत्थर की हिमायत में ग़ज़ल लिखते हैं
रोज़ शीशों से कोई काम निकल पड़ता है

Dr. Rahat Indori Birthday Special best Sher Shayari Nazm

मैंने अपनी खुश्क आँखों से लहू छलका दिया,
इक समंदर कह रहा था मुझको पानी चाहिए।

बहुत ग़ुरूर है दरिया को अपने होने पर
जो मेरी प्यास से उलझे तो धज्जियाँ उड़ जाएँ

नए किरदार आते जा रहे हैं
मगर नाटक पुराना चल रहा है

Rahat Indori Sher Shayari with Image (Part 1) “ StatusHindi | by ...

रोज़ तारों को नुमाइश में ख़लल पड़ता है
चाँद पागल है अँधेरे में निकल पड़ता है

मैं आख़िर कौन सा मौसम तुम्हारे नाम कर देता
यहाँ हर एक मौसम को गुज़र जाने की जल्दी थी

बीमार को मरज़ की दवा देनी चाहिए
मैं पीना चाहता हूँ पिला देनी चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *